Everything about Subconscious Mind

न उन्होंने याद किया और न हम उनको भुला सके!

तू नहीं तो ज़िंदगी में और क्या रह जायेगा;

थोड़ी-सी ख़ाक-ए-कूचा-ए-दिलबर ही ले चलें!

बैठे थे अपनी याद लेकर कि अचानक चौंक उठे;

भूलना मेरी आदत नहीं, यादाश्त चली जाये तो और बात है;

तुम्हारी याद के जब ज़ख़्म भरने लगते हैं;

कि तुझको याद रखने में मैं क्या - क्या भूल जाता हूँ।

रोये थे जिन पलों में याद कर उन्हें हँसी आती है;

sequacious 'intellectually servile' inadmissible 'not able to staying authorized' oligarch, pejorative 'a member a authorities in which a small team routines Regulate specifically for corrupt and selfish uses' emolument 'the returns arising from Office environment or work normally in the shape of payment or perquisites' troll 'to harass, criticize, more info or antagonize Specially by disparaging or mocking general public statements' SEE ALL

देख कर साया तुम्हारा अब तो डर जाता हूँ मैं​;​

​​इबादत here कर नहीं पाया खुदा! नाराज़ मत होना​।

Subscribe to The usa's most significant dictionary and have thousands a lot more definitions and State-of-the-art look website for—advert totally free!

आज जो जिंदगी है, वही आने कल की याद कहलाती है।

हमें रह-रह के याद अपना दिल-ए-दीवाना आता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *